Wednesday, October 20, 2021
No menu items!
HomeNEWSNational NewsNitin Gadkari does not get relief from Bombay High Court in the...

Nitin Gadkari does not get relief from Bombay High Court in the petition challenging the election

 
बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर पीठ ने शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडगरी की उस अर्जी को खारिज कर दिया। गडकरी ने कोर्ट से 2019 के लोकसभा चुनावों में चुनावी हलफनामे में गलत जानकारी देने के लिए उनके खिलाफ दायर एक याचिका को खारिज करने की मांग की थी।जस्टिस ए एस चंदुरकर की पीठ ने नागपुर निवासी मोहम्मद नफीस खान की याचिका खारिज करने से इनकार कर दिया। पीठ ने कहा, याचिका में पर्याप्त कारण हैं जिसके आधार पर गडकरी के निर्वाचन को चुनौती दी जा सकती है।

 

कोर्ट ने हालांकि, गडकरी के परिवार के सदस्यों द्वारा अर्जित आय और चुनाव प्रक्रिया के दौरान किए गए व्यय के बारे में अन्य बिंदुओं के साथ-साथ उनके स्वामित्व वाली भूमि से संबंधित चुनाव याचिका में लगाए गए आरोपों को खारिज कर दिया।

जस्टिस चंदुरकर ने आदेश में कहा, चुनाव याचिका के दो बिंदु, पहला नागपुर में गडकरी के स्वामित्व वाली भूमि से संबंधित और दूसरा गडकरी के कृषि की आय का स्रोत घोषित करने के आरोपों को खारिज नहीं किया जा सकता। याचिका के इन दोनों बिंदुओं पर सुनवाई होनी चाहिए।

The Nagpur bench of the Bombay High Court on Friday rejected the plea of ​​Union Minister Nitin Gadgari. Gadkari had asked the court to dismiss a petition filed against him for giving false information in the election affidavit in the 2019 Lok Sabha elections.

 



A bench of Justice AS Chandurkar refused to dismiss the petition filed by Nagpur resident Mohammad Nafees Khan. “There are sufficient reasons in the petition on the basis of which Gadkari’s election can be challenged,” the bench said.

The court, however, dismissed the allegations made in the election petition relating to the income earned by members of Gadkari’s family and expenditure incurred during the election process, as well as the land owned by him.

Justice Chandurkar said in the order, two points of the election petition, first relating to land owned by Gadkari in Nagpur and second declaring Gadkari’s source of agricultural income cannot be dismissed. Both these points of the petition should be heard.

https://www.drmilind.com/2020/05/turmeric-health-benefits-in-hindi.html

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: